रेपिस्टों का गैंग चलाने में अरेस्ट हुई रुखसाना का सपा कनेक्शन

कानपुर. बीते 24 जनवरी को वारिश नगर मंगला बिहार फेस-2 में महिला के साथ गैंगरेप के मामले में अरेस्ट रुखसाना अंसारी के तार समाजवादी पार्टी से भी जुड़े होने की पुष्टि हुई है। लक्ष्मी पुरवा वार्ड में इस महिला ने अपने घर में पार्टी का दफ्तर खोल रखा है। सपा के रंग में रंगा था घर... - रुकसाना के घर के सामने का भाग पूरा समाजवादी रंग से रंगा हुआ था। - दीवार पर बड़े-बड़े अक्षर में समाजवादी पार्टी लिखा हुआ था। - ऊपर एक तरफ मुलायम सिंह यादव जिंदाबाद, स्व. जनेश्वर मिश्र अमर रहे और अखिलेश यादव जिंदाबाद लिखा हुआ था। - कानपुर नगर के पूर्व अध्यक्ष स्व. जितेंद्र बहादुर अमर रहे, शिवपाल यादव जिंदाबाद वार्ड न. 2 लक्ष्मी पुरवा श्रीमती रुकसाना अंसारी रनर प्रत्याशी भी बड़े अक्षरों में लिखा मिला। 8 साल से सपा से जुड़ी है - रुखसाना की मां ने बताया कि वह पिछले आठ साल से सपा से जुड़ी हुई है। - पांच साल पहले उसकी बेटी ने सपा का दफ्तर खोला था तब कई बड़े नेता भी आए थे। - साल 2012 में नगर निगम के चुनाव में पार्षद का चुनाव भी इसी पार्टी से रुखसाना लड़ चुकी है। - उसमें रुकसाना दूसरे नंबर पर आई थी। - रुखसाना अब अगले चुनाव की भी तैयारी कर रही है। इसको लेकर उसने पोस्टर लगवाए हैं। पार्टी से कोई लेना देना नहीं समाजवादी पार्टी के नगर अध्यक्ष महताब आलम ने बताया कि रुखसाना अंसारी का पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। उसने जो भी चुनाव लड़ा है, उसमें पार्टी का कोई योगदान नहीं था। पार्टी के सत्ता में रहने का कई लोग फायदा उठाते हैं। उसके कार्यालय के बारे में क्षेत्रीय पुलिस चौकी इंचार्ज को तफ्तीश करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसकी पूरी जानकारी मुख्यमंत्री तक पहुंचा दी गई है। इसमें वहां के चौकी इंचार्ज को भी सस्पेंड कराया जाएगा। कौन है रुखसाना - रुखसाना एक हिस्ट्रीशीटर महिला है, जो कलक्‍टरगंज थानाक्षेत्र के सीपीसी कॉलोनी की रहने वाली है। - रुखसाना पर 1997 में कलक्टरगंज थाने में पहला केस दर्ज हुआ। इसके बाद उसकी गिनती शहर के ड्रग्स माफिया में होने लगी। -2002 में एनडीपीएस एक्‍ट के तहत पकड़े जाने पर रुखसाना ने बताया कि वह नशे का सामान बिहार से मंगाती है। - कलक्टरगंज एसओ के मुताबिक, ये रेलवे लाइन के किनारे बनी बस्तियों में ड्रग्स बेचती थी। - रुखसाना ने साल 2005 में पहली बार चार लोगों से गैंग की शुरुआत की, जो बाद में बढ़कर 8 हो गए। - यह गैंग कभी दिन में नहीं, बल्‍कि रात 12 से सुबह 4 बजे के बीच वारदात को अंजाम देता था। - बिहार फेस-2 में एक महिला के साथ हुए गैंगरेप मामले का बुधवार को खुलासा हो गया

0 Comments

Write a comment

Write a Comment

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.