मोदी मंत्रिमडंल; संजीव बालियान समेत 4 राज्यमंत्रीयो को पदोन्नत किये जाने की संभावना !

नयी दिल्ली। केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में बहुप्रतीक्षित फेरबदल कल होगा, जिसमें कई नये चेहरों को शामिल किये जाने और कुछ मंत्रियों की विदाई होने की संभावना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल पूर्वाह्न 11 बजे अपनी मंत्रिपरिषद का विस्तार करेंगे। पिछले कई दिनों से मंत्रिपरिषद में फेरबदल की अटकलें थी और आज मुख्य सरकारी प्रवक्ता फ्रैंक नोरोन्हा ने कल विस्तार होने की आधिकारिक घोषणा कर इन अटकलों पर विराम लगा दिया। सूत्रों के अनुसार मंत्रिपरिषद के दूसरे विस्तार में 10 से अधिक नये चेहरे शामिल किये जाने और कुछ मंत्रियों को हटाकर उन्हें भारतीय जनता पार्टी संगठन का दायित्व दिये जाने की संभावना है। इसमें सहयोगी दलों की भागीदारी बढ़ाये जाने की भी उम्मीद है। माना जा रहा है कि इस विस्तार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से कुछ नये चेहरे शामिल किये जायेंगे। श्री सर्वानंद सोनोवाल को असम का मुख्यमंत्री बनाये जाने के मद्देनजर इस राज्य को भी मंत्रिपरिषद में प्रतिनिधित्व दिया जायेगा। सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक अपना दल और रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया (आरपीआई) के प्रतिनिधियों को भी इसमें जगह दी जायेगी। अपना दल की अनुप्रिया पटेल और आरपीआई के नेता रामदास अठावले को न्यौता भेजा जा चुका है। भाजपा के सबसे पुराने सहयोगी शिवसेना को भी एक और सीट दिये जाने की चर्चा है, लेकिन अभी तक उसे सरकार की तरफ से कोई सूचना नहीं मिली है। भाजपा सांसद एस.एस. आहलूवालिया, विजय गोयल, अर्जुनराम मेघवाल, पुरुषोत्तम रूपाला, महेन्द्र नाथ पाण्डेय, पी.पी.चौधरी, अजय टम्टा, अनिल माधव दवे, फग्गन सिंह कुलस्ते, कृष्णराज तथा मनसुख भाई मंडाविया के नाम नये मंत्रियों के तौर पर लिये जा रहे हैं। योगी आदित्यनाथ और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के पुत्र राजवीर सिंह का नाम भी चर्चा में है। श्री आहलूवालिया और श्री गोयल ने सुबह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। कुछ और नेताओं के भी श्री शाह से मिलने की संभावना है। प्रधानमंत्री ने पिछले सप्ताह अपनी मंत्रिपरिषद की चार घंटे से अधिक चली बैठक में मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा की थी और पार्टी अध्यक्ष के साथ भी विचार-विमर्श किया था। सूत्रों के अनुसार लघु एवं मध्यम उद्योग राज्य मंत्री गिरिराज सिंह, मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री प्रो. रामशंकर कठेरिया और पंचायती राज, रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री निहालचंद को मंत्रिपरिषद से हटा कर संगठन में भेजा जा सकता है। पहले 75 वर्ष से अधिक आयु के हो चुके सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री कलराज मिश्रा और अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नजमा हेपतुल्ला को हटाये जाने की चर्चा थी, लेकिन अब इसकी संभावना कम बतायी जा रही है। मंत्रिपरिषद में इस समय प्रधानमंत्री को मिलाकर कुल 64 मंत्री हैं, जिनमें 27 कैबिनेट, 12 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्यमंत्री और 25 राज्यमंत्री हैं। सूत्रों के अनुसार कुछ मंत्रियों के विभागों में फेरबदल भी किया जा सकता है हालांकि वित्त, विदेश, रक्षा और गृह मंत्रालय में कोई फेरबदल होने की संभावना नहीं है। सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल विस्तार में मुजफ्फरनगर के सांसद व कृषि राज्यमंत्री संजीव बालियान समेत वित्त राज्यमंत्री जयंत सिन्हा, पैट्रोलियम राज्यमंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और ऊर्जा राज्यमंत्री पीयूष गोयल को पदोन्नत किये जाने की संभावना है। सहारनपुर के सांसद राघव लखनपाल को भी राज्यमंत्राी के रूप में मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। कुछ मंत्रियों को राष्ट्रपति भवन से सूचना प्राप्त हो गई है, लेकिन अधिकृत सूची देर रात तक फाइनल किये जाने की संभावना है

0 Comments

Write a comment

Write a Comment

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.