शिक्षक दिवस पर 111 शिक्षकों को जिलाधिकारी ने शाल व फूल माला पहना कर किया सम्मानित !

मुजफ्फरनगर- 05-सितम्बर 2016.जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने आज शिक्षक दिवस के अवसर पर जिला पंचायत सभागार में शिक्षकों को सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में जनपद के 111 शिक्षकों को सम्मानित करने हुए कहा कि इस देश में अनेकों विभूतियों ने हमे ज्ञान से मार्गदर्शन दिया है। उन्ही में से एक डा0 सर्व पल्ली राधाकृष्णन जैसी महान विभूति का जन्म दिन 5 सिंतम्बर को शिक्षक दिवस के रूप मे मनाना हमारे लिए गौरव की बात है। उन्होने कहा कि डा0 सर्व पल्ली राधाकृष्णन ने शिक्षा के क्षेत्र में अमूल्य योगदान दिया है जिसको कभी भी भुलाया नही जा सकता। उनकी सोच थी कि यदि सही तरीके से शिक्षा दी जाये तो समाज में फैली अनेकों बुराईयों अन्त स्वतः ही हो जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि हमारे देश के विकास में शिक्षकों का विशेष योगदान रहा है। गुरू शिष्य परंम्परा हमारी पहचान है। गुरू को भगवान से भी ऊपर का दर्जा दिया गया है।प्राचीन काल से ही भारत में गुरूओं का सम्मान होता रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि आज के दौर में शिक्षा का और शिक्षा व्यवस्था दोनो ही पूरी तरह बदल चुकी है जहां पहले गुंरूकुल में पढाई होती थी आज के युग में स्मार्ट क्लास ने उनकी जगह ले ली है। लेकिन अभी भी गांव कस्बों में प्राथमिक विद्यालयों में ही पढाई होती है। उन्होने कहा कि देश का निर्माण प्राथमिक विद्यालयों से ही जुडा है, क्योकि निर्माण की नीव प्राथमिक विद्यालय से ही डलती है। जिलाधिकारी ने कहा कि आज के युग मे यह जरूरी है कि शिक्षक बच्चोें को नैतिक शिक्षा व संस्कार से पूर्ण शिक्षा दे यह उनका एक गुरू होने के नाते कर्तव्य भी है। उन्होने कहा किअध्यापकों को प्रोत्साहित करना ही शिक्षक दिवस का उददेश्य है। जिलाधिकारी ने आज जिला पंचायत सभागार में जनपद के 111शिक्षको जिनमें प्राथमिक विद्यालय के 73 व उच्च माध्यमिक विद्यालय के 38 शिक्षको को शॉल व फूल माला पहनाकर उनका सम्मान किया। जिलाधिकारी ने कहा कि 25 सिंतम्बर को जनपद के 123 विद्यालयों में हरी घास लगाई जायेगी। ताकि प्राथमिक स्कूल का वातावरण हरा भरा बना रहे। उन्होने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों में 3 जुलाई को पौधरोपण कर पेड लगाये गये थे। उन्होने कहा कि जहां भी पेड खराब या टूट गये है वहां नये पौधों व पेडों को लगाया जायेगा। उन्होने कहा कि जनपद के प्राथमिक विद्यालयों का वातावरण उच्च कराना उनकी प्राथमिकता में एक है। उन्होने कहा कि इसी कार्यक्रम के तहत 25 सिंतम्बर को जनपद के 123 प्राथमिक विद्यालयों में ग्राम प्रधान व प्रधानाध्यापक मिलकर हरी घास लगायेगे। उन्होने कहा कि जनपद के कई प्राथमिकता में विद्युत कनैक्शन नही थे। जिसके लिए 371 विद्यालयों में 20 सिंतम्बर तक कनैक्शन दिये जाने का कार्य पूर्ण हो जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों की प्रतिभा निखारने के लिए जनपद में 20 सिंतम्बर को प्राथमिक विद्यालयों में एक परीक्षा आयोजित कराई जायेगी। इसी प्रकार 25 सिंतम्बर को ब्लॉक स्तर परीक्षा आयोजित कराई जायेगी। परीक्षा में सफल छात्र छात्रओं में से अकों/परीक्षा के आधार पर प्रथम पुरूस्कार के लिए 10हजार रूपये देकर सम्मानित किया जायेगा। उन्होने कहा कि यह कार्यक्रम नियमित इसी प्रकार चलते रहेगे। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के सभी स्कूलों मे सोलर लाईट लगाई जायेगी तथा 15 से 30 सिंतम्बर तक सभी स्कूलों की रंगाई पुताई का कार्य कराया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा शिक्षकों का यह दायित्व है कि वे बच्चो के अभिवावकों को समझाये ताकि बच्चें स्कूलों मे आ सके। मुख्य विकास अधिकारी अंकित अग्रवाल ने कहा कि आखिरी व्यक्ति तक शिक्षा पहुचानी है, प्रत्येक व्यक्ति को शिक्षा पहुचाये। उन्होने कहा कि शिक्षक ही देश को आगे ले जा सकते है। उन्होने कहा कि जनपद के अशिक्षित प्रधानों को भी साक्षर बनाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होने कहा कि शिक्षा का समय कभी समाप्त नही होता, शिक्षा सदैव साथ रहती है। उन्होने कहा कि आज के युग में तकनीकी शिक्षा की आवश्यकता अधिक है। शिक्षक दिवस के अवसर पर अनेको शिक्षक व शिक्षिकाओं शिवकुमार यादव, श्रीमती कुसुम त्यागी, प्रहलाद सिंह, संजीव बालियान, राजेन्द्र भारती, ब्रजपाल त्रिपाठी, मौ0 अखलाक, मुजीबुर्र रहमान, इरशाद, सत्यवान आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन मनोज कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 सुनील कुमार, नगर मजिस्ट्रेट राजेन्द्र सिहं, जिला विद्यालय निरीक्षक वी0पी0 सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी चन्द्रकेश यादव सहित अनेक अधिकारी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

0 Comments

Write a comment

Write a Comment

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.